RRB JE Model Question Paper with Answer

RRB JE Model Question Paper with Answer

RRB JE की तैयारी करने वाले सभी उम्मीदवारों को इस परीक्षा से संबंधित काफी महत्वपूर्ण स्टडी मैटेरियल चाहिए होता है ताकि वह इस परीक्षा की तैयारी सबसे अच्छी कर सके तो जो उम्मीदवार RRB JE की तैयारी कर रहा है उसके लिए हमारी इस पोस्ट में हरियाणा एसएससी स्टाफ नर्स मॉडल प्रश्न पत्र RRB Junior Engineer  परीक्षा में पूछे गए कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न और उनके उत्तर दिए गए हैं जिन्हें आप ध्यानपूर्वक पढ़ें यह प्रशन पहले भी RRB JE की काफी परीक्षा में पूछे जा चुके हैं और आगे आने वाली परीक्षा में पूछे जा सकते हैं.

1. एक ए सी, R-L-C परिपथ के श्रेणी अनुनाद पर क्या होता है?

· आरोपित वोल्टता, प्रेरणिक पात के बराबर होती है।
· आरोपित वोल्टता, प्रतिरोधी पात के बराबर होती है।
· आरोपित वोल्टता, धारिता पात के बराबर होती है।
· आरोपित वोल्टता, प्रतिरोधी पात से अधिक होती है।
उत्तर.- आरोपित वोल्टता, प्रतिरोधी पात के बराबर होती है।

2. तीन फेज के तारा-सम्बन्धित तुल्यकालिक जनित्र में, जिसके आँकडे निम्नलिखित हैं, प्रति फेज प्रेरित विद्युत वाहक बल (Emf) कितना होगा? वितरण गुणांक = 0.955: कुंडली-विस्तृति गुणक = 0.966; आवृत्ति = 50 Hz; प्रति ध्रुव फ्लक्स 25 Mwb; प्रति फेज वर्तन =240

· 1737.80 वोल्ट
· 2128.36 वोल्ट
· 1228.81 वोल्ट
· 869.46 वोल्ट
उत्तर.- 1228.81 वोल्ट

3. चौंध किस कारण उत्पन्न होती है?

· अत्यधिक ज्योतिर्मयता के कारण
· (A) तथा (D) में, कोई नहीं
· (A) तथा (D) दोनों के कारण
· दृष्टि-क्षेत्र में अत्यधिक प्रकाश वैषम्य के कारण
उत्तर.- (A) तथा (D) दोनों के कारण

4. किसी स्वत: परिणामित्र में, जिसमें एक सोडियम वाष्प लैंप का प्रयोग किया गया हो, उच्च परिणाम किसका होगा?

· परिणमन अनुपात
· कुंडली प्रतिरोध
· कुंडलियों को क्षरण प्रतिघात
· VA निर्धारण
उत्तर.- कुंडलियों को क्षरण प्रतिघात

5. किसी D.C, शंट मोटर के घूर्णन की दिशा, किसकी अदला-बदली करके उलटी की जा सकती है?

· केवल क्षेत्र टर्मिनलों से
· केवल आर्मेचर टर्मिनलों से
· फील्ड अथवा आर्मेचर टर्मिनलों से
· प्रदाय टर्मिनलों से
उत्तर.- फील्ड अथवा आर्मेचर टर्मिनलों से

6. किसी 100 KVA परिणामित्र में लोह हानि 1 KW है और पूर्ण भार पर ताँबा हानि 2KW है। तदनुसार उसकी अधिकतम क्षमता कितने भार पर होगी?

· 50 KVA
· 100 KVA
· 70.7 KVA
· 141.4KVA
उत्तर.- 70.7 KVA

7. निम्नलिखित वोल्टता तथा धारा तरंगों के बीच का फेज अन्तर कितना है? V = 311 Sin (100𝝅t+30)° वोल्ट I = 17 Sin (100𝝅t-20)° ऐम्पियर

· 30°
· 20°
· 50°
· 10°
उत्तर.- 50°

8. वि ऊर्जा की SI इकाई कौनसी है?

· वोल्ट ऐम्पियर सेकण्ड
· वाट सेकण्ड
· जूल
· KWh
उत्तर.- जूल

9. लोह की क्रोड-कुंडली में हिस्टेरिसिस हानियाँ कब होती हैं?

· कुंडली की धारा केवल ज्यावक्रीय होने पर
· कुंडली की धारा प्रत्यावर्ती होने पर
· कुंडली की धारा केवल असममित प्रत्यावर्ती होने पर
· कुंडली की धारा केवल D.C. होने पर
उत्तर.- कुंडली की धारा प्रत्यावर्ती होने पर

10. एक उपभोक्ता को दिया गया लोड 2 KW है और उसकी अधिकतम माँग 1.5 KW है। तदनुसार उस उपभोक्ता का माँग गुणांक कितना है?

· 0.375
· 1.33
· इनमें से कोई नहीं
· 0.75
उत्तर.- 0.75

11. एक फेज वाले परिणामित्र में, पूर्ण भार पर ताँबा हानि 600 वाट है। तदनुसार पूर्ण भार के आधे पर, ताँबा हानि कितनी होगी?

· 300 वाट
· 150 वाट
· 75 वाट
· 600 वाट
उत्तर.- 150 वाट

12. लोह चुम्बकीय क्रोड में भंवर-धारा की हानि किसकी समानुपाती

· आवृत्ति का व्युत्क्रम
· आवृत्ति का वर्ग
· आवृत्ति का वर्गमूल
· आवृत्ति
उत्तर.- आवृत्ति का वर्ग

13. एक भार को पूर्ति से जोड़ा गया है। उस भार तथा पूर्ति के बीच एक धारा परिणामित्र (CT) तथा एक विभव परिणामित्र (PT) लगाए गए हैं। CT तथा PT के द्वितीयक पक्ष के शक्ति गुणांक का माप 0.5 है। तदनुसार यदि CTतथा PT की फेज कोण त्रुटियाँ 0.4° तथा 0.7° हों, तो भार का शक्ति गुणांक कितना होगा?

· Cos 61.1°
· Cos 60.3°
· Cos 58.99
· Cos 59.7°
उत्तर.- Cos 61.1°

14. एक कुंडली, जिसमें कई फेरे हैं, एक विशिट काल स्थिरांक वाली है। तदनुसार यदि उसके फेरों की संख्या दुगुनी कर दी जाए, तो उसके काल स्थिरांक पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

· दुगुना हो जाएगा।
· चार गुना हो जाएगा
· आधा हो जाएगा
· अप्रभावित रहेगा
उत्तर.- दुगुना हो जाएगा।

15. सामान्यतः तापमान बढ़ने पर विद्युतरोधनों के प्रतिरोधकों पर क्या प्रभाव पड़ता है?

· अपरिवर्तित रहते हैं
· घटते हैं।
· तेजी से बढ़ते हैं
· धीरे-धीरे बढ़ते हैं।
उत्तर.- घटते हैं।

16. श्रेणी वाले RC परिपथ में, C के पार वोल्टता, परिपथ को V वोल्ट Dc पर चालू करते ही बढ़ने लगती है। तदनुसार C के पार वोल्टता-बढ़ोत्तरी की दर, परिपथ का स्विच बन्द करते ही (अर्थात् T = 0+ पर) कितनी हो जाएगी?

· R/CV
· RV/C
· CV/R
· V/RC
उत्तर.- V/RC

17. तारा त्रिकोण में, तीन फेज वाली प्रेरण-मोटर के प्रवर्तन के समय प्रवर्तन-वोल्टता कितनी कम हो जाती है?

· सामान्य वोल्टता की 1/√3 गुनी
· सामान्य वोल्टता की √3 गुनी
· सामान्य वोल्टता की 3 गुनी
· सामान्य वोल्टता की ⅓ गुनी
उत्तर.- सामान्य वोल्टता की 1/√3 गुनी

18. निम्न में कौनसा पदार्थ अर्ध चालक है?

· सिलिका
· क्रोमियम
· सेलेनियम
· बिस्मथ
उत्तर.- सेलेनियम

19. एक प्रतिरोधक और दूसरा परिपथ अवयव, डीसी वोल्टता V के पार, एक श्रेणी में जुड़े हैं। उसमें दूसरे अवयव के पार वोल्टता आरम्भ में V है और बाद में शून्य हो जाती है। तदनुसार दूसरा अवयव पूर्णत: क्या है?

· प्रेरकत्व
· धारिता
· B तथा D दोनों
· प्रतिरोध
उत्तर.- प्रेरकत्व

20. निम्नलिखित में कौन सही है?

· किसी तुल्यकालिक मशीन के मुख्य फ्लक्स पर क्षेत्र-धारा के प्रभाव को आर्मेचर प्रतिक्रिया कहते हैं।
· किसीतुल्यकालिक मशीनकीआर्मेचरधारापरवायु-अन्तराल फ्लक्स के प्रभाव को आर्मेचर प्रतिक्रिया कहते हैं।
· किसी तुल्यकालिक मशीन के मुख्य फ्लक्स पर आर्मेचर धारा के प्रभाव को आर्मेचर प्रतिक्रिया कहते हैं।
· किसी तुल्यकालिक मशीन के वायु-अन्तराल फ्लक्स पर आर्मेचर धारा के प्रभाव को आर्मेचर प्रतिक्रिया कहते हैं।
उत्तर.- किसी तुल्यकालिक मशीन के मुख्य फ्लक्स पर आर्मेचर धारा के प्रभाव को आर्मेचर प्रतिक्रिया कहते हैं।

21. निम्न में कौनसी विधि, चालक माध्यम के तापन के उपयुक्त है?

· भंवर-धारा तापन
· प्रेरण तापन
· (A) तथा (B) दोनों
· विकिरण तापन
उत्तर.- (A) तथा (B) दोनों

22. एक संतुलित 3 फेज वाली प्रणाली में, एक वाटमीटर की धारा कुंडली लाइन 1 में निविष्ट की गई है और विभव कुंडली लाइन 2 तथा 3 के पार लगाई गई हैं। तदनुसार यदि वाटमीटर का पठन 100 W हो, तो 3 फेज के भार द्वारा कितनी प्रतिघाती शक्ति ली जाएगी?

· 141.4 VAR
· 173.2VAR
· 50 VAR
· 100 VAR
उत्तर.- 173.2VAR

23. दाहकर्म के लिए भट्टी में किस प्रकार का तापन प्रयुक्त होता है?

· प्रेरण तापन
· परावैद्युत तापन
· आर्क तापन
· प्रतिरोध तापन
उत्तर.- प्रतिरोध तापन

24. आभासी भार की व्यवस्था में, वाटमीटर के अंशांकन परीक्षण में, ऊर्जा का उपभोग किस कारण कम हो जाता है?

· परीक्षण सेट में लोड की अनुपस्थिति
· धारा-कुंडली के पार निम्न वोल्टता-पूर्ति का पृथक उपयोग
· दोनों कुंडली के बीच किसी उभयनिष्ठ बिन्दु का न होना
· धारा कुंडली तथा दाब कुंडली में हानि की कमी
उत्तर.- परीक्षण सेट में लोड की अनुपस्थिति

25. दो निकटवर्ती युग्मित क्रोडों के बीच अन्योन्य प्रेरकत्व 1H है। तदनुसार, यदि एक क्रोड के फेरे घटाकर, आधे कर दिए जाएँ और दूसरे के दुगुने कर दिए जाएँ, तो अन्योन्य प्रेरकत्व का नया मान कितना हो जाएगा?

· 1/2H
· 1/4H
· 1H
· 2H
उत्तर.- 1H

26. निम्न में किस प्रकार का यंत्र चुम्बकीय हिस्टेरिसिस के कारण त्रुटि करने लगता है?

· PMMC
· प्रेरण प्रकार
· विद्युतगतीय
· चल लोह
उत्तर.- चल लोह

27. घरेलू ऊर्जा मीटर कैसा होता है?

· समाकलन यंत्र
· अभिलेख यंत्र
· इनमें से कोई नहीं
· सूचक यंत्र
उत्तर.- समाकलन यंत्र

28. आवृत्ति के विपरीत अंकित किसी लोह-चुम्बकीय क्रोड में प्रति आवृत्ति-इकाई की लोह-हानि कैसी होती है?

· अचर
· धनात्मक प्रवणता वाली सरल रेखा
· ऋणात्मक प्रवणता वाली सरल रेखा
· परवलय
उत्तर.- धनात्मक प्रवणता वाली सरल रेखा

29. एक श्रेणी R-L-C परिपथ 1 MHz पर अनुनादी है। तदनुसार 1.1 MHz आवृत्ति पर, परिपथ प्रतिबाधा कैसी होगी?

· प्रेरणिक
· प्रतिरोधक
· R, L तथा C के आपेक्षिक आयाम पर आधारित
· धारक
उत्तर.- प्रेरणिक

30. निम्न में किसमें, माप की शून्य विधि का प्रयोग नहीं होता?

· एसी विभवमापी
· मेगर
· डीसी विभवमापी
· केल्विन द्विसेतु
उत्तर.- मेगर

31. 3 फेज वाली संतुलित प्रदाय प्रणाली के लिए, किस भार पर लाइन धाराओं का फेजर योग शून्य नहीं होगा?

· असंतुलित स्टार योजित
· संतुलित डेल्टा योजित
· असंतुलित डेल्टा योजित
· संतलित स्टार योजित
उत्तर.- असंतुलित स्टार योजित

32. यदि एक चुम्बकीय पदार्थ की छड़ की लम्बाई 20% बढ़ा दी जाती है और उसका अनुप्रस्थ काट का क्षेत्रफल 20% कम कर दिया जाता है, तो उसके प्रतिष्टम्भ पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

· 67% बढ़ जाएगा
· 50% बढ़ जाएगा
· यथावत रहेगा
· 33% कम हो जाएगा
उत्तर.- 50% बढ़ जाएगा

33. क्रमशः 40 MVA तथा 60 MVA दरों वाले दो आल्टरनेटर, समान्तर स्थिति में कार्य करते हुए 80 MW भार की आपूर्ति कर रहे हैं। उन दोनों आल्टरनेटरों का चाल-नियमन 5% है। तदनुसार दोनों के बीच, भार की हिस्सेदारी कितनी होगी?

· 30 MW, 50 MW
· 32 MW, 48 MW
· 36 MW, 44 MW
· प्रत्येक को 40 MW
उत्तर.- 32 MW, 48 MW

34. 250 आर्मेचर चालक वाला एक लैप कुंडलित Dc जनित्र 1200 Rpm पर चलता है। यदि उसकी जनित Emf, 200 V हो, तो उस Dc जनित्र का प्रचालन फ्लक्स कितना होगा?

· 0.02 Wb
· 0.08 Wb
· 0.04 Wb
· 0.06 Wb
उत्तर.- 0.04 Wb

35. परिक्रामी क्षेत्र सिद्धान्त के आधार पर, 4 पोल के रोटर Emf, 50 Hz, तथा एकल फेज प्रेरण मोटर, जो 1300 Rpm पर अग्र क्षेत्र में उसी दिशा में चल रही है, की अग्रगामी तथा पश्चगामी आवृत्तियाँ क्रमशः क्या होगी?

· 6.67 Hz, 93.33 Hz
· 107.69 Hz, 7.69 Hz
· 93.33 Hz, 6.67 Hz
· 7.69 Hz, 107.69 Hz
उत्तर.- 6.67 Hz, 93.33 Hz

36. निम्नलिखित में कौन, विद्युत का सर्वोत्तम चालक है?

· आसवित जल आसावत जल
· गर्म जल
· नमक जल
· शीतल जल
उत्तर.- नमक जल

37. किसी परिपथ में थेवेनिन प्रमेय के प्रयोग से क्या परिणाम प्राप्त होता है?

· एक वोल्टता के स्रोत तथा एक प्रतिबाधा का श्रेणी में होना
· एक आदर्श वोल्टता स्रोत
· एक आदर्श धारा स्रोत
· एक धारा के स्रोत तथा एक प्रतिबाधा का समान्तर होना
उत्तर.- एक वोल्टता के स्रोत तथा एक प्रतिबाधा का श्रेणी में होना

38. जल वैद्युत शक्ति केन्द्र में प्रयुक्त आल्टरनेटर में तथा ताप विद्युत शक्ति केन्द्र में प्रयुक्त आल्टरनेटर से अधिक ध्रुव क्यों होते हैं?

· उसके आल्टरनेटर से जनित शक्ति कम होती है।
· मुख्य चालक की गति को आवश्यकतानुसार बदला जा सकता है।
· आल्टरनेटर से जनित शक्ति को माँग के अनुसार बदला जा सकता है।
· उसके मुख्य चालक की गति कम होती है।
उत्तर.- उसके मुख्य चालक की गति कम होती है।

39. एक 3 फेज वाले परिणामित्र का प्राथमिक डेल्टा में और द्वितीयक, स्टार में जुड़ा है। उसका द्वितीयक से प्राथमिक का प्रति फेज वर्तन-अनुपात 6 है। तदनुसार प्राथमिक वोल्टता 200V के लिए। उसकी द्वितीयक वोल्टता कितनी होगी?

· 58V
· 2078 V
· 693 V
· 1200 V
उत्तर.- 2078 V

40. एक श्रेणी वाला R-L-C परिपथ, किस आवृत्ति पर चालू करने पर इकाई शक्ति-गुणक वाला होगा?

· 1/√/(LC)
· 1/(2𝝅√LC)
· LC
· 1/(LC)
उत्तर.- 1/(2𝝅√LC)

41. दो मीटरों X तथा Y को, पूरे पैमाने पर विक्षेप के लिए क्रमशः 40 MA तथा 50 MA की जरूरत थी। तदनुसार स्थिति क्या है?

· Y,X से ज्यादा संवेदनशील है ।
· दोनों एक समान संवेदनशील हैं।
· टिप्पणी के लिए आँकड़े अपर्याप्त हैं।
· X, Yसे ज्यादा संवेदनशील है।
उत्तर.- X, Yसे ज्यादा संवेदनशील है।

42. एक विद्युत लोह को 230V,400 W,50Hz पर निर्धारित किया गया है। तदनुसार 230 V का वोल्टता निर्धारण क्या प्रकट करता है?

· शिखर मान
· Rms मान
· शिखर से शिखर तक का मान
· औसत मान
उत्तर.- Rms मान

43. A तथा B दो तार, जो एक ही पदार्थ के हैं, किन्तु भिन्न लम्बाई L तथा 2L के हैं, क्रमशःr तथा 27 त्रिज्या वाले हैं। तदनुसार उनके विशिष्ट प्रतिरोध का अनुपात कितना होगा?

· 1 : 2
· 1:4
· 1: 8
· 1 : 1
उत्तर.- 1 : 1

44. एक उपभोक्ता को निम्न प्रकार की शुल्क दरें प्रस्तावित की गई हैं। उसे प्रतिमास के ₹ 1,000 का निश्चित शुल्क देना होगा और उपभुक्त शक्ति का ₹ 4.50 प्रति यूनिट की दर से चालू भुगतान करना होगा। तदनुसार यदि वह उपभोक्ता अपनी 1 KW लोड वाली मोटर को 0.85 शक्ति गुणांक पर औसतन 15 घंटे प्रति दिन चलाता है, तो उसका वार्षिक बिल कितना होगा?

· ₹ 32941.88
· ₹ 25637.50
· ₹ 36637.50
· ₹ 40985.29
उत्तर.- ₹ 36637.50

45. किसी तुल्यकालिक मशीन की पूर्णतः पिच कुंडली के लिए पिच-गुणांक कितना होगा?

· 1.0
· 0.5
· 0.9
· 0.0
उत्तर.- 1.0

46. तीन प्रतिरोध, जिनमें प्रत्येक 5ᘯ है. स्टार में जोड़े गए हैं। तदनुसार उनके अनुरूप डेल्टा-प्रतिरोधों का मान कितना होगा?

· 15ᘯ प्रत्येक
· 1.5ᘯ प्रत्येक
· 2.5ᘯ प्रत्येक
· उपरोक्त में से कोई नहीं
उत्तर.- 15ᘯ प्रत्येक

47. किसी मोटर में, संघर्षण कार्य के लिए सबसे उपयुक्त विशिष्टताएँ कौनसी हैं?

· D.C. शंट मोटर
· D.C. श्रेणी मोटर
· तुल्यकालिक मोटर
· प्रेरण मोटर
उत्तर.- D.C. श्रेणी मोटर

48. एक एक गैर-ज्यावक्रीय आवर्ती तरंगरूप DC घटक, Cosine घटक, यहाँ तक कि हार्मोनिकी से भी मुक्त है। तदनुसार तरंगरूप कैसा होगा?

· केवल अर्ध तरंग सममिति
· अर्ध तरंग तथा विषम फलन सममिति
· अर्ध तरंग तथा सम फलन सममिति
· केवल विषम फलन सममिति
उत्तर.- अर्ध तरंग तथा विषम फलन सममिति

49. किसी D.C, शंट मोटर की प्राप्य अधिकतम गति कितनी होती है?

· शून्य भार गति के बराबर
· शून्य भार गति से काफी ज्यादा
· शून्य भार गति से काफी कम
· आदर्शत: अनंत
उत्तर.- शून्य भार गति के बराबर

50. यदि किसी 3 फेज वाली प्रेरण मोटर का प्रवर्तन बल आघूर्ण,DOL प्रवर्तन हेतु Tst हो, तो वह उसी मोटर के तारा-त्रिकोण प्रवर्तन हेतु कितना होगा?

· 3Tst
· st/3
· st/√3
· √3Tst
उत्तर.- Tst/3

51. AC संचालित वैद्युत यांत्रिक संपत्रि में, खट-खट की समस्या कैसे दूर की जाती है?

· वैद्युत चुम्बक को ध्रुव-फलक पर ताँबे की छादन-पट्टी रखकर
· चालक के अनुप्रस्थ काट को बढ़ाकर
· चालक सामग्री के रूप में ताँबे की बजाय ऐलुमिनियम का प्रयोग करके
· वैद्युत चुम्बक क्रोड का पटलन करके
उत्तर.- वैद्युत चुम्बक को ध्रुव-फलक पर ताँबे की छादन-पट्टी रखकर

52. एक R-L श्रेणी परिपथ में R = 20ᘯ, L = 0.056H तथा प्रदाय आवृत्ति F = 50 Hz है। तदनुसार परिपथ की प्रतिबाधा का परिणाम कितना है?

· 20.056ᘯ
· 26.64ᘯ
· 20.0ᘯ
· 37.6ᘯ
उत्तर.- 26.64ᘯ

53. जब कोई संधारित्र, मीटर के माध्यम से निस्सृत होता है, तो 1 माइक्रो कूलाम/डिग्री के बराबर स्थिरांक वाला प्राक्षेपिक गैल्वैनोमीटर 22.5° क्षेप देता है। तदनुसार यदि 15V की बैटरी, संधारित्र के पुनः पूरण के काम में लाई जाए, तो संधारण का मान कितना होगा?

· 15μF
· 22.5μF
· 10μF
· 1.5μF
उत्तर.- 1.5μF

54. एक 20 माइक्रो फैराड संधारित्र को एक आदर्श वोल्टता स्रोत के सम्पर्क में जोड़ दिया जाता है। तदनुसार संधारित्र की धारा कितनी हो जाएगी?

· पहले अत्यधिक होगी, अनंतर चरघातांकी ढंग से घटेगी
· पहले अत्यधिक होगी, अनंतर चरघातांकी ढंग से घटेगी और स्थिर अवस्था में शून्य हो जाएगी।
· इनमें कोई सच नहीं है।
· पहले शून्य होगी, अनंतर चरघातांकी ढंग से बढ़ेगी
उत्तर.- पहले अत्यधिक होगी, अनंतर चरघातांकी ढंग से घटेगी और स्थिर अवस्था में शून्य हो जाएगी।

55. सार्वत्रिक मोटर कैसी मोटर होती है?

· शंट
· श्रेणी
· एककलीय प्रेरण
· तुल्यकालिक
उत्तर.- श्रेणी

56. एक दिष्टकारी परिपथ में फिल्टर का प्राथमिक कार्य क्या है?

· दिष्टकारी निर्गम में विषम हार्मोनिकों को निरुद्ध करना
· निर्गम वोल्टता के DC स्तर को नियंत्रित करना
· दिष्टकृत निर्गम से ऊर्मिकाएँ हटाना
· AC निविष्ट विचलनों को न्यूनतम करना
उत्तर.- दिष्टकृत निर्गम से ऊर्मिकाएँ हटाना

57. एक स्वत: परिणामित्र की प्राथमिक कुंडली में वर्तनों की संख्या 210 है और द्वितीयक कुंडली में 140 है। तदनुसार यदि निवेश धारा 60A हो, तो वह निर्गम कुंडली तथा उभयनिष्ठ कुंडली में कितनी होगी?

· 90A, 150A
· 40A, 20A
· 40A, 100A
· 90A, 30A
उत्तर.- 90A, 30A

58. FET क्या होते हैं?

· द्विध्रुवीय उपकरण
· एकध्रुवीय या द्विध्रुवीय
· इनमें से कोई नहीं
· एकध्रुवीय उपकरण
उत्तर.- एकध्रुवीय उपकरण

59. D.C, मशीनों के खम्भे अक्सर किस लिए पटलित किए जाते हैं?

· हिस्टेरिसिस हानि कम करने के लिए।
· भंवर धारा की हानि कम करने के लिए
· लोह भार कम करने के लिए।
· आर्मेचर प्रतिक्रिया कम करने के लिए
उत्तर.- भंवर धारा की हानि कम करने के लिए

60. यथासंभव कम से कम वर्तनों के AC श्रेणी के मोटर किसमें कमी लाने के लिए बनाए जाते हैं?

· गति
· फ्लक्स
· प्रतिघात
· लाभ-हानि
उत्तर.- प्रतिघात

61. निम्न में कौनसी मोटरें AC तथा DC दोनों पर संतोषप्रद ढंग से कार्य कर सकती हैं?

· तुल्यकालिक मोटर
· श्रेणी मोटर
· शंट मोटर
· प्रेरण मोटर
उत्तर.- श्रेणी मोटर

62. I = 6 + 10 Sin (100𝝅) + 20 Sin (200𝝅t) की धारा, एक PMMC तथा चल लोह यंत्र के संयोजन की अनुगामी है। तदनुसार, Ni.I. तथा PMMC मीटर में पंजीयन के अनुसार, दोनों धाराओं का अनुपात कितना होगा?

· 2.63
· 1.81
· 3.11
· 2.82
उत्तर.- 2.82

63. स्थाई चुम्बक बनाने के लिए जो चुम्बकीय सामग्री इस्तेमाल की जाती है, उसमें क्या होना चाहिए?

· निम्न निग्रह बल
· तेजी से उठते चुंबकन-वक्र
· छोटे हिस्टेरिसिस लूप
· उच्च धारणक्षमता
उत्तर.- उच्च धारणक्षमता

64. सामान्यतः यदि एक ज्या तरंग, श्मिट ट्रिगर में प्रभरित की जाती है, तो उसका परिणाम क्या होगा?

· त्रिभुजाकार तरंग
· वर्ग तरंग
· आरा दाँती तरंग
· प्रवर्धित ज्या तरंग
उत्तर.- वर्ग तरंग

65. F वर्ग के विद्युत-रोधन के लिए अधिकतम तापमान की सीमा कितनी है?

· 155°C
· 130°C
· 120°C
· 105°C
उत्तर.- 155°C

66. निम्न पदार्थों में, किसमें सबसे कम प्रतिरोधकता होती है?

· ताँबा
· लोहा
· मैंगनिन
· ऐलुमिनियम
उत्तर.- ताँबा

67. दो प्रेरकों का स्व प्रेरकत्व क्रमश: 9mH तथा 25 MH है। उन दोनों के बीच अन्योन्य प्रेरकत्व 12 MH है। तदनुसार उन दोनों प्रेरकों के बीच प्रेरणिक युग्मन का गुणांक कितना होगा?

· 1.25
· 18.75
· 0.25
· 0.8
उत्तर.- 0.8

68. स्ट्रेन टाइप इंसुलेटर का प्रयोग ……. के लिए होता है।

· पूर्ण अंत के लिए।
· 11 KV से कम लो वोल्टेज लाइन के लिए
· तेज मोड़ के लिए
· उपर्युक्त सभी
उत्तर.- उपर्युक्त सभी

69. चुम्बकीय निर्धमन कुंडलियाँ सामान्यत: कहाँ प्रयुक्त होती हैं?

· तेल परिपथ-वियोजक
· निर्वात परिपथ-वियोजक
· वायु वियोजन परिपथ-वियोजक
· वात्या परिपथ-वियोजक
उत्तर.- वायु वियोजन परिपथ-वियोजक

70. दो युग्मित प्रेरक L1 =0.2 H तथा L2= 0.8 H हैं। उनका युग्मन गुणांक K= 0.8 है। तदनुसार अन्योन्य प्रेरकत्व M कितना होगा?

· 0.24H
· 0.16H
· 0.02 H
· 0.32H
उत्तर.- 0.32H

71. एक शुद्ध अर्ध चालक में ताप संतुलन के अन्तर्गत छिद्रों की संख्या तथा चालन-इलेक्ट्रॉनों की संख्या के बीच का अनुपात कितना होता है?

· 2
· 1/2
· अनंत
· 1
उत्तर.- 1

72. 3 फेज वाली प्रेरण-मोटर के सर्पण को किस प्रकार व्यक्त किया जा सकता है?

· रोटर शक्ति निवेश/रोटर ताँबा हानि
· रोटर ताँबा हानि/रोटर क्रोड हानि
· रोटर ताँबा हानि/रोटर शक्ति निवेश
· रोटर ताँबा हानि/कुल निवेश शक्ति
उत्तर.- रोटर ताँबा हानि/रोटर शक्ति निवेश

73. एक पोटेंशियोमीटर एक डीसी परिपथ के दो बिन्दुओं के बीच की वोल्टता मापने के काम में लाया जाता है, तो वोल्टता 1.2 V पाई जाती है। इसी को वोल्टमीटर से मापने पर, वह 0.9V पाई जाती है। वोल्टमीटर का प्रतिरोध 60 K2 है। तदनुसार दोनों बिन्दुओं के बीच निवेश प्रतिरोध कितना होगा?

· 80kᘯ
· 60kᘯ
· 20kᘯ
· 45kᘯ
उत्तर.- 20kᘯ

74. एक संतुलित -3 फेज वाले परिपथ में, दो वाटमीटरों की विधि से शक्ति के मापन में, यदि दोनों वाटमीटरों का पाठन एकसमान हो, तो परिपथ का शक्ति गुणांक कितना होगा?

· 0.8 आगे
· शून्य
· इकाई
· 0.8 पीछे
उत्तर.- इकाई

75. किसी थाइराइट तड़ित निरोधक में प्रतिरोध कैसा रहता है?

· प्रयुक्त वोल्टता के अनुसार रैखिकत: घटता है।
· निम्न धारा पर उच्च तथा उच्च धारा पर निम्न होता है।
· निम्न धारा पर निम्न तथा उच्च धारा पर उच्च होता है।
· प्रयुक्त वोल्टता के अनुसार रैखिकत: बढ़ता है।
उत्तर.- निम्न धारा पर उच्च तथा उच्च धारा पर निम्न होता है।

76. एक विभवमापी का प्रयोग करते हुए निम्न प्रतिरोध के मापन में निम्न पाठन-परिणाम प्राप्त हुए : अज्ञात प्रतिरोध के पार वोल्टता की कमी = 0.531 वोल्ट 0.1 ओहम मानक प्रतिरोध को श्रृंखला में अज्ञात प्रतिरोध से जोड़ने पर वोल्टता की कमी =1.083 वोल्ट तदनुसार अज्ञात प्रतिरोधक का मान क्या होगा?

· 53.1 Milliohm
· 49.03 Milliohm
· 108.3 Milliohm
· 20.4 Milliohm
उत्तर.- 49.03 Milliohm

77. प्रतिदीप्ति नली वाले परिपथ में उच्च वोल्टता प्रोत्कर्ष किससे उत्पन्न होता है?

· चोक
· तापक
· इलेक्ट्रोड
· प्रवर्तक
उत्तर.- चोक

78. विद्युतचुम्बकीय बल आघूर्ण, फ्लक्स तथा धारा की अन्योन्यक्रिया से उत्पन्न होता है। उसमें फ्लक्स तथा धारा के बीच का कोण 45° होता है। यदि यह कोण 30° कर दिया जाए, तो फ्लक्स 100% बढ़ जाता है और धारा 25% कम हो जाती है। तदनुसार बल आघूर्ण पर क्या प्रभाव पड़ता है?

· मूल का 66.7% कम हो जाता है।
· मूल का 183.7% बढ़ जाता है।
· मूल का 81.6% कम हो जाता।
· मूल का 54.4% कम हो जाता है।
उत्तर.- मूल का 183.7% बढ़ जाता है।

79. नीचे दिए समीकरण के आधार पर प्रत्यावर्ती धारा का Rms मान कितना होगा? I = 50 Sin (314t – 10°) + 30 Sin (314t-20°)

· 77.43A
· 41.23 A
· 58.31A
· 38.73
उत्तर.- 41.23 A

80. अनुनाद पर RLC, Ac श्रेणी परिपथ के लिए धारा कितनी होती है?

· Pf से आगे अधिकतम
· Pf से आगे न्यूनतम
· Pf से पीछे न्यूनतम
· Pf इकाई पर अधिकतम
उत्तर.- Pf इकाई पर अधिकतम

81. एक 10μF तथा एक 20μF के संधारित्र श्रेणीबद्ध हैं उनके संयोजन में 150 V, एक ज्यावक्रीय वोल्टता-स्रोत से दिए जाते हैं। तदनसार 20μF के संधारित्र के सम्पर्क में कितनी वोल्टता रहेगी?

· 50 V
· 75V
· 125V
· 100 V
उत्तर.- 50 V

RRB JE परीक्षाओं की तैयारी करने वाले सभी उम्मीदवारों के लिए इस पोस्ट में free online test series for rrb je RRB JE – CBT 1 Mock Test Series Railway RRB JE Study Materials PDF in Hindi RRB JE Mock Test Free 2019 RRB JE Previous Year Paper rrb je question paper download in hindi rrb je exam paper in hindi pdf rrb je question paper for cbt 1 rrb je solved paper in hindi pdf rrb je old paper hindi pdf आरआरबी जेई क्वेश्चन पेपर 2018 आरआरबी जेई मॉडल प्रश्न पत्र आरआरबी जेई ऑनलाइन परीक्षा प्रैक्टिस टेस्ट से संबंधित काफी महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है यह जानकारी फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और इसके बारे में आप कुछ जानना यह पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके अवश्य पूछे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.