ITI

सर्किट ब्रेकर Circuit Breakers in Hindi

सर्किट ब्रेकर Circuit Breakers in Hindi

विद्युत व्यवस्था में लगातार प्रगति होने की वजह से लाइनें एवं अन्य उपकरण High Voltage पर चलते हैं और बड़ी धाराएँ वहन करते हैं। फ्यूजों के साथ-साथ स्विचों की तरक्की ऐसे उच्च क्षमता वाले परिपथों में स्विच गेयर का वांछित कार्य नहीं कर सकती है। यह नियंत्रण के विश्वसनीय साधनों अर्थात् Circuit Breakers को इस्तेमाल करना आवश्यक बना देता है। Circuit Breakers वह युक्ति होती है जो सभी दशाओं के अंतर्गत अर्थात् बिना लोड स्थितियों पर, फुल लोड होने पर तथा शार्ट सर्किट स्थितियों के अंतर्गत स्वचालित रूप से या हाथ से परिपथ को चालू या बंद करते है। Circuit Breakers की यह विशेषता विद्युत व्यवस्था के अनेक पुर्जों की सुरक्षा तथा स्विचिंग हेतु इसे अत्यन्त उपयोगी बना देती है।

विभिन्न प्रकार के सर्किट ब्रेकर और उनके उपयोग

सर्किट ब्रेकर को  (arc) विलुप्त करने के लिए उपयोग  किया जाता है.

1.तैलीय सर्किट ब्रेकर (OCB)

Oil circuit breaker:  : एक सर्किट ब्रेकर High वोल्टता वाला सर्किट जिसमें High Voltage प्रवाहित हो रही है, को चालू तथा बंद करती है। चूंकि Contact point पर चिंगारियाँ निकलती हैं इसलिए Contact point तेल से भरे चैम्बर में लगाए जाते हैं। तेल की उपस्थिति चिंगारी को रोकती है और Contact point के लिए आसान प्रचालन दशा प्रदान करती है।

2.वायु विस्फोट सर्किट ब्रेकर (ABCB)

Air Blast Circuit breaker : Air Blast circuit breaker में चिंगारी विलुप्त करने हेतु 20 kg per cm2 के दाब पर Collapsed वायु भरी होती है और ये 132 kV पर पर चलने वाले सिस्टम में बेहतर इस्तेमाल होते हैं, साथ ही शॉर्ट सर्किट दोष के दौरान 7500 MVA तक अवरोध क्षमता वाले 400 kV तक या इससे ऊपर भी बेहतर इस्तेमाल होते हैं। फिर भी ऐसे ABCB भी बनाए गए हैं जो 6.6 kV से 132kV तक वोल्टेज को कवर करते हैं। कांटेक्ट्स के इर्द-गिर्द संघनित वायु के विस्फोट के प्रकारों के आधार पर तीन प्रकार के ABCB होते हैं:
1.एक्सियले (अक्षीय)
2.रेडियल (दीप्तिमान)
3.विस्फोट वायु नलिका एअर ब्लास्ट पाइपों के अनुप्रस्थ प्रवाह।

3.सल्फर हेक्सा फ्लोराइड सर्किट ब्रेकर

sulphur hexafluoride  Circuit breaker : जिसमें चिंगारी समाप्ति के लिए सल्फर हेक्सा फ्लोराइड SF, गैस का प्रयोग किया जाता है।

4.निर्वात (वैक्यूम) सर्किट ब्रेकर

Vacuum circuit breakers : जिसमें चिंगारी समाप्ति के लिए निर्वात का प्रयोग किया जाता है।

5.मिनिएचर सर्किट ब्रेकर

Miniature Circuit Breakers (MCBs) : मिनिएचर सर्किट ब्रेकर में कोई भी मरम्मत करने लायक पुर्ज नहीं होते हैं जिससे कि जब वे खराब हों तो पूरी इकाई (यूनिट) को बदल देना चाहिए। MCB में लगी ओवरलोड ट्रिप्स थर्मल या चुंबकीय प्रकार की या फिर दोनों के संयोजन से बनी हो सकती हैं। नीचे आपको MCB की आंतरिक संरचनात्मक विवरण तथा उसके भाग दर्शाए गए हैं.

स्विच फ्यूजों की अपेक्षा एम.सी.बी. के लाभ :

1.MCB को स्विच के कार्य के साथ-साथ सुरक्षात्मक उपकरण माना जा सकता है और जिस वजह से उनका प्रयोग नियंत्रण करने के साथ-साथ परिपथ एवं उपकरणों की सुरक्षा के लिए किया जा सकता है।

2.ये बनावट में मॉड्यूलर होते हैं जो विभिन्न संयोजनों में उनके प्रयोग की अनुमति देता है।

3.MCB का प्रयोग छोटे आवासों, कमरों तथा मकानों आदिमें किया जा सकता है।

4. MCB अनिवार्य रूप से हस्तक्षेप रहित होते हैं क्योंकि उनमें शील्ड टाइप संलग्नक होते हैं।

5.ये बनावट में प्लग-इन में उपलब्ध होते हैं, इसलिए ये सक्रिय दशा में भी सर्किट बसबारों में दबाए जा सकते हैं। इसलिए इनको बदलना बहुत आसान होता है।

6.MCB सामान्य प्रयोग में पुनर्भरणीय एवं HRC फ्यूजों की अपेक्षा सुरक्षा प्रदान करते हैं। इसका कारण यह कि न्यूनतम ट्रिप धारा से लेकर नियत धारा (रेटिड करेंट) अर्थात् ट्रिपिंग फैक्टर (Tripping factor) तक के संकीर्ण नियंत्रण अनुपात वाला होता है।

घरेलू उपकरणों के लिए MCB Rating

उपकरण Rating Single Phase 220V – MCB
1.एयर कंडीशनर्स 15/20 एम्पीयर 1.5 Tons
10/15 एम्पीयर 1 Tons
2.विद्युत केतली 10 एम्पीयर 1.5 kW
3.स्वचालित-टोस्टर्स

(2 स्लाइसें)

7.5 एम्पीयर 1.2 kW
4.इस्तरी (आयरन) 5 एम्पीयर 750 Watt
7.5 एम्पीयर 1.2 kW
5.रूम हीटर्स 5 एम्पीयर 1 kW
10 एम्पीयर 2 kw
6.रेफ्रीजरेटर 1.5 एम्पीयर 165
2 एम्पीयर 285
7.वाशिंग मशीन 2 एम्पीयर 300 Watt
7.5 एम्पीयर 1.3 Watt
8.वाटर हीटर्स 15 एम्पीयर 1-3 kW
15 एम्पीयर 1-2 kW
30 एम्पीयर 3-6 kW
9.(i) ओवन

(ii) ग्रिलर

(i) हॉट प्लेट्स

(iv) ओवन-कमग्रिलर वाला कुकिंग

 

5 एम्पीयर 750 Watt
10 एम्पीयर 1.75 kW
12 एम्पीयर 2 kW
25/30 एम्पीयर 4.5 kW

 

6.अर्थलीकेज सर्किट ब्रेकर

Earth Leakage Circuit Breaker (ELCB) : जो Fault विद्युत उपकरण में मौजूद हो सकते हैं और जिसके परिणामस्वरूप अपर्याप्त Insulation, Insulation असफलता या दुरुपयोग होता है, को तेजी से रोकते हुए दुर्घटनाओं से सुरक्षा प्रदान करने के लिए अर्थ लीकेज सर्किट ब्रेकर्स बनाए जाते हैं। ELCB दो प्रकार के होते हैं.

(i.) Voltage Operate Earth Leakage Circuit Breaker : VOELCB  में ‘अर्थ’ इलेक्ट्रोड प्रतिरोध समय के साथ परिवर्तित हो जाता है और इस प्रकार पृथ्वीपाश प्रतिबाधा लम्बे समय तक नहीं रहती है। यह बिना महसूस हुए धात्विक संलग्नकों पर खतरनाक वोल्टेज को बढ़ाता है।

(ii.) Current Operate Earth Leakage Circuit Breaker : COELCB – अधिक सुरक्षित होते हैं क्योंकि ये लाइन करंट एवं न्यूट्रल करंट के वेक्टर योग के सिद्धांत पर कार्य करते हैं। इसीलिए अत्यधिक विश्वसनीय, installation एवं Maintenance में आसान होते हैं। कोई भी धारा यहाँ तक कि मिली-एम्पीयर जो न्यूट्रल के माध्यम से स्रोत तक वापस नहीं हो पाती है, भूमि से प्रवाहित माना जाता है। यह Differential Voltage , COELCB द्वारा तुरन्त महसूस कर ली जाती है और यह विद्युत Supply को बंद कर देती है, इस प्रकार यह लोगों को Earthing Fault एवं आग से सुरक्षा प्रदान करते हुए खतरनाक विद्युत झटकों से बचाता है।

इस पोस्ट में types of circuit breakers pdf different types of circuit breakers and their uses types of circuit breakers ppt circuit breaker ratings high voltage circuit breakers circuit breaker types pictures circuit breaker diagram oil circuit breaker से संबंधित काफी महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है यह जानकारी फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और इसके बारे में आप कुछ जानना यह पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके अवश्य पूछे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!