तिलचट्टा ज़मीन पर कैसे गति करता है और वायु में उड़ता है

तिलचट्टा ज़मीन पर कैसे गति करता है और वायु में उड़ता है

तिलचट्टे की गति-तिलचट्टा ज़मीन पर चलता है, दीवार पर चढ़ता है और वायु में उड़ता भी है। इनमें तीन जोड़ी पैर होते हैं। यह चलने में सहायता करते हैं। इसका शरीर कठोर | बाय-कंकाल द्वारा ढका होता है। यह बाय चित्र-तिलचट्टा कंकाल विभिन्न एककों की परस्पर संधियों द्वारा बनता है जिसके कारण गति संभव हो पाती है। तिलचट्टे के उड़ने का कारण यह होता है, क्योंकि इसके वक्ष से दो जोड़े पंख जुड़े होते हैं। जोकि आगे की तरफ से नुकीले और पिछली तरफ से चौड़े होते हैं।यह पंख तिलचट्टे को उड़ने में सहायता प्रदान करते हैं। तिलचट्टे की विशेष पेशियां उसे दीवार पर चलने में सहायता करती हैं और उसके पैर की पेशियों से जमीन पर चलने में सहायता करते हैं। उसके वक्ष की पेशियां तिलचट्टे को उड़ने के समय सहायता करती है और उसके पंखों को गति देती हैंं। यही कारण है फिर तिलचट्टा जमीन पर चलता है, दीवार पर भी चलता है और हवा में भी उड़ता है।

शरीर में गति के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

प्रश्न 1. गति किसे कहते हैं ?

उत्तर- शरीर का एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाना गति कहलाता है।

प्रश्न 2. जंतु एक स्थान से दूसरे स्थान तक कैसे गमन करते हैं ?

उत्तर- जंतु एक स्थान से दूसरे स्थान तक गमन अंग अथवा शरीर के किसी भाग से गति करते हैं।

प्रश्न 3. गाय, मनुष्य, पक्षी, कीट और मछली के गमन अंग का नाम बताओ।

उत्तर- गाय – पैर कीट – पंख (उड़ने में सहायक)
मनुष्य . – पैर मछली – मीन पंख (तैरने में सहायक)
पक्षी – पंख (उड़ने में सहायक)

प्रश्न 4. जंतुओं के एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने के तरीको में इतनी अधिक विविधता क्यों है ?

उत्तर- क्योंकि विभिन्न जंतुओं के गति करने के गमन अंग विभिन्न हैं। इसलिए उनके गति के तरीकों में इतनी विविधता है।

प्रश्न 5. आपके शरीर का कौन-सा अंग पूर्णतः घूम सकता है ?

उत्तर- भुजा, टांग

प्रश्न 6. आपके शरीर के कौन-से अंग अशांत घूमते/मुड़ते हैं ?

उत्तर- गर्दन, कलाई, अंगुलियां, घुटने, सिर, कोहनी।

प्रश्न 7. अस्थियाँ क्या हैं ?

उत्तर- अस्थियाँ (Bones)-यह शरीर का कठोरतम भाग हैं जो शरीर को आकार प्रदान करती हैं। हमारे शरीर के प्रत्येक भाग में अनेक अस्थियाँ हैं।

प्रश्न 8. हमारे शरीर की विभिन्न प्रकार की गतियां कैसे होती हैं ?

उत्तर- विभिन्न प्रकार की संधियां हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की गतियां करने में सहायता करती हैं।

प्रश्न 9. संधि किसे कहते हैं ?

उत्तर- शरीर के कई भाग जो गति करते हैं, उनकी अस्थियाँ विशेष प्रकार के जोड़ से जुड़ी होती हैं जिसे संधि कहते हैं।

प्रश्न 10. हमारे शरीर के किन भागों में संधि होती है ?

उत्तर- कोहनी, कंधा, गर्दन और घुटने में प्राय: संधि होती है।

प्रश्न 11. हमारे शरीर में मुख्यतः कितनी प्रकार की संधियां हैं ?

उत्तर- संधियों की किस्में-कंदुक खल्लिका संधि, धुराग्र संधि, हिंज संधि, अचल संधि ।

प्रश्न 12. कंदुक खल्लिका संधि कहाँ होती है ?

उत्तर- कंदुक खलिल्का संधि कुल्हे और कंधे में होती है।

प्रश्न 13. हिंज संधि कहाँ होती है ?

उत्तर- घुटने और कोहनी में हिंज संधि होती है।

प्रश्न 14. धुराग्र संधि कहाँ होती है ?

उत्तर- गर्दन और सिर के मध्य धुराग्र संधि होती है।

प्रश्न 15. धुराग्र संधि में कौन-सी अस्थि एक छल्ले में घूमती है ?

उत्तर- धुराग्र संधि में बेलनाकार अस्थि एक छल्ले में घूमती है।

प्रश्न 16. अचल संधि कहाँ होती है ?

उत्तर- ऊपरी जबड़े एवं कपाल के मध्य अचल संधि होती है।

प्रश्न 17. अस्थि पिंजर किसे कहते हैं ?

उत्तर- शरीर में अस्थि ढाँचे को अस्थि पिंजर कहते हैं।

प्रश्न 18. अस्थियों का क्या कार्य है ?

उत्तर- अस्थियाँ हमारे शरीर को सुंदर आकृति प्रदान करती हैं।

प्रश्न 19. शरीर के विभिन्न अंगों में उपस्थित अस्थियों की संख्या और आकृति के बारे में हमें कैसे पता चलता है ?

उत्तर- एक्स-रे चित्र से हम अस्थियों की संख्या और आकृति के बारे में पता लगा सकते हैं।

प्रश्न-20 अपेक मध्यम अंगुली में कितनी अस्थियां हैं ?

उत्तर- चार अस्थियां

इस पोस्ट में तिलचट्टा ज़मीन पर कैसे गति करता है और वायु में उड़ता है ? तिलचट्टा के शरीर में वायु कहां से प्रवेश करती है तिलचट्टे के शरीर में वायु कैसे प्रवेश करती है तिलचट्टा के शरीर में वायु प्रवेश करती है तिलचट्टा में कितने जोड़े श्वास रंध्र पाए जाते हैं तिलचट्टा का श्वसन अंग क्या है तिलचट्टे में कौन सा कंकाल होता है तिलचट्टा कैसे गति करता है ? शरीर में गति प्रश्न उत्तर शरीर में गति से संबंधित काफी महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर दिए गए है यह प्रश्न उत्तर फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और इसके बारे में आप कुछ जानना यह पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके अवश्य पूछे.

Leave a Comment

error: Content is protected !!