सजीवों के सामान्य लक्षण क्या होते है

सजीवों के सामान्य लक्षण क्या होते है

सजीवों के सामान्य लक्षण-
(1) सजीव भोजन ग्रहण करते हैं अथवा स्वयं भोजन बनाते हैं जैसे पौधे।।
(2) सजीवों में वृद्धि होती है।
(3) सजीवों में श्वसन प्रक्रिया होती है।
(4) सजीव प्रजनन करते हैं।
(5) सजीवों में उत्सर्जन क्रिया होती है।
(6) सजीव उद्दीपन के प्रति उत्तेजना प्रदर्शित करते हैं।

सजीवों से संबंधित जानकारी

सजीव और निर्जीव से संबंधित जानकारी विज्ञान विषय में पढ़ाई जाती है अगर आप भी विद्यार्थी हैं तो आपको सजीव और निर्जीव से संबंधित जानकारी होनी चाहिए और अगर आप ऐसे किसी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं जिसमें सजीव और निर्जीव या विज्ञान से संबंधित प्रश्न पूछे जा सकते हैं तो आपको सजीव और निर्जीव से संबंधित ज्यादा से ज्यादा जानकारी प्राप्त करनी चाहिए जो भी विद्यार्थी विज्ञान की परीक्षा की तैयारी कर रहा है उसके लिए इस पोस्ट में सजीव विशेषताएं एवं आवास सजीव और निर्जीव की परिभाषा परिवेश किसे कहते हैं आवास किसे कहते है से संबंधित काफी महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर दिए गए हैं जो कि पहले विज्ञान की परीक्षा में पूछे जा चुके हैं.

प्रश्न . मेंढक जल में कैसे तैरता है ?

उत्तर.मेंढक के पश्चपाद में जालयुक्त पादांगुलियां होती हैं जो उसे तैरने में सहायता करती हैं।

प्रश्न . वन में पाई जाने वाली कोई पाँच वस्तुओं के नाम लिखिए।

उत्तर.वृक्ष, आरोही लता, पक्षी, चट्टान और छत्रक।

प्रश्न . मरुस्थल में रहने वाले जंतुओं और पौधों का एक अभिलक्षण बताएँ।

उत्तर.मरुस्थल में रहने वाले जंतु और पौधे पानी अल्पमात्रा में उपयोग करते हैं।

प्रश्न . ऊँट मरुस्थलीय परिस्थितियों में रहने के अनुकूल है। इसका एक अभिलक्षण बताएँ।

उत्तर.ऊँट में मूत्रोत्सर्जन की मात्रा बहुत कम होती है तथा मल शुष्क होता है।

प्रश्न . मछली जल में रहने के अनुकूलन है। इसका अभिलक्षण बताएँ।

उत्तर.मछली का शरीर धारा रेखीय होता है जिससे यह आसानी से पानी में तैर सकती है।

प्रश्न . अनुकूलन किसे कहते हैं ?

उत्तर.अनुकूलन-जिन विशिष्ट संरचनाओं अथवा स्वभाव की उपस्थिति किसी पौधे अथवा जंतु को उसके परिवेश में रहने के योग्य बनाती है उसे अनुकूलन कहते हैं।

प्रश्न . किन चीजों के लिए जीव अपने आवास पर निर्भर करता है ?

उत्तर.जीव अपने भोजन, वायु, शरण स्थल एवं अन्य आवश्यकताओं के लिए अपने आवास पर निर्भर करता है।

प्रश्न . स्थलीय-आवास किसे कहते हैं ?

उत्तर.स्थलीय-आवास-स्थल अथवा जमीन पर पाए जाने वाले पौधों एवं जंतुओं के आवास को स्थलीय-आवास कहते हैं।

प्रश्न  . स्थलीय-आवासों के उदाहरण दीजिए।

उत्तर.वन, घास के मैदान, मरुस्थल, तटीय एवं पर्वतीय क्षेत्र, स्थलीय-आवास के उदाहरण हैं।

प्रश्न . जलीय-आवास किसे कहते हैं ?

उत्तर.जलीय-आवास-जल में रहने वाले जंतुओं और पौधों के आवास को जलीय-आवास कहते हैं।

प्रश्न . जलीय-आवास के उदाहरण दीजिए।

उत्तर.जलाशय, दलदल, झील, नदियाँ एवं समुद्र जलीय-आवास हैं।

प्रश्न . पर्यानुकूलन किसे करते हैं?

उत्तर. अल्प अवधि में किसी एक जीवके शरीर में होने वाले छोटेछोटे परिवर्तन को पर्यानुकूलन कहते हैं।

प्रश्न . कुछ मरुस्थलीय जंतु बिलों में क्यों रहते हैं ?

उत्तर.चूहे एवं साँप जैसे जंतु तेज़ गर्मी से बचने के लिए भूमि के अंदर गहरे बिलों में रहते हैं। रात्रि के समय जब तापमान में कमी आती है तो यह बाहर निकलते हैं।

प्रश्न . परिवेश किसे कहते हैं ? दो प्रकार के परिवेश की उदाहरणे दीजिए।

उत्तर. परिवेश-किसी जीव के इर्द-गिर्द का स्थान जहाँ वह रहता है, उस जीव का परिवेश कहलाता है।
उदाहरणः- मरुस्थलीय परिवेश और समुद्री परिवेश।

प्रश्न  . क्या विभिन्न परिवेशों में विभिन्न प्रकार के जीव पाए जाते हैं ?

उत्तर. हाँ, विभिन्न प्रकार के परिवेशों में विभिन्न प्रकार के जीव पाए जाते हैं।

प्रश्न . समुद्री परिवेश में रहने वाले जंतु तथा पौधों का एक अभिलक्षण लिखिए।

उत्तर.समुद्र में रहने वाले जंतु और पौधे श्वसन के लिए जल में विलेय वायु (ऑक्सीजन) का उपयोग करते हैं।

प्रश्न . मरुस्थलीय पौधों की एक विशेषता लिखिए।

उत्तर.मरुस्थलीय पौधों में पत्तियाँ या तो अनुपस्थित होती हैं अथवा बहुत छोटी शूल जैसी होती हैं।

प्रश्न . नागफनी के पौधों की हरी संरचना किसका तना है अथवा पत्ती ?

उत्तर.नागफनी में पत्ती जैसी जिस संरचना जो हम देखते हैं, वह वास्तव में इसका तना है।

प्रश्न . नागफनी के पौधे में प्रकाश संश्लेषण किस भाग में होता है ?

उत्तर.नागफनी में प्रकाश संश्लेषण हरी संरचना जिसे तना कहते हैं उसमें होता है।

प्रश्न . नागफनी का तना एक मोटी मोमी परत से क्यों ढका होता है ?

उत्तर.मोटी मोमी परत पौधे को जल संरक्षण में सहायता करती है।

प्रश्न . मरुस्थलीय पौधों में जड़े बहुत गहरी क्यों होती हैं ?

उत्तर.मरुस्थलीय पौधों में जड़ जल अवशोषण के लिए मिट्टी में बहुत अधिक गहराई तक चली जाती है।

प्रश्न . पर्वतीय क्षेत्रों के वृक्ष सामान्यतः कैसे होते हैं ?

उत्तर.पर्वतीय क्षेत्रों के वृक्ष सामान्यत: शंक्वाकार होते हैं तथा इनकी शाखाएँ तिरछी होती हैं। इनमें से कुछ वृक्षों की पत्तियां सूई के आकार की होती हैं।

प्रश्न . पर्वतीय क्षेत्रों में पाए जाने वाले जंतुओं में क्या अनुकूलित होता है ?

उत्तर.पर्वतीय क्षेत्र में पाए जाने वाले जंतुओं की मोटी त्वचा या फर ठंड से इनका बचाव करती है।

प्रश्न . यॉक ठंड वाले क्षेत्रों में रहने के लिए कैसे अनुकूल हैं ?

उत्तर.यॉक के शरीर पर लंबे बाल होते हैं जो उसे गर्म रखते हैं और ठंड से बचाते हैं।

प्रश्न . पहाड़ी बकरी ढालदार चट्टानों पर दौड़ने के लिए कैसे अनुकूलित हैं ?

उत्तर. –पहाड़ी बकरों के मज़बूत खुरै उसे ढालदौर चट्टानों पर दौड़ने के लिए अनुकूलित बनाते हैं।

प्रश्न . पहाड़ी तेंदुए ठंडे फ्र्वतीय क्षेत्र में रहने के लिए कैसै अनुकूलित हैं ?

उत्तर.–पहाड़ी तेंदुओं के शरीर पर फर होते हैं। यह बर्फ पर चलते समय उसके पैरों को ठंड से बचाते हैं।

प्रश्न . हिरण घास स्थल में रहने के लिए कैसे अनुकूलित हैं?

उत्तर.पौधों के कठोर तनों को चबाने के लिए इसके मज़बूत दाँत होते हैं।

प्रश्न . हिरण में कौन-सी अनुकूलन है जो इसे शिकारी के खतरे को महसूस कराती है ?

उत्तर.हिरण के लंबे कान उसे शिकारी की गतिविधि की जानकारी देते हैं। दूसरे इस के सिर के पार्श्व के दोनों ओर स्थित आँखें प्रत्येक दिशा में देखकर इसे खतरा महसूस कराती हैं।

प्रश्न . मछली जल में सुगमता से क्यों तैर सकती है ?

उत्तर.मछली का शरीर धारा रेखीय होता है, जिससे वह जेल में सुगमता से तैर सकती है।

प्रश्न . स्क्विड़ एवं आक्टोपस जैसे समुद्री जंतु समुद्र की तलहटी में क्यों रहते हैं ?

उत्तर.स्क्विड़ एवं आक्टोपस का शरीर धारा रेखीय नहीं होता इसलिए वे समुद्र की गहराई अथवा तलहटी में रहते हैं।

प्रश्न . मछली साँस कैसे लेती हैं ?

उत्तर.मछली गिल्स (Gills) की सहायता से साँस लेती है क्योंकि मछली में फेफड़े नहीं होते।

प्रश्न . डॉलफिन एवं हवेल कैसे साँस लेती हैं ?

उत्तर.डॉलफिन तथा हवेल में गिल नहीं होते। यह सिर पर स्थित नासा द्वार अथवा वात छिद्रों द्वारा श्वास लेते हैं।

प्रश्न . जलीय पौधों का तना कैसा होता है ?

उत्तर.जलीय पौधों का तना लंबा, खोखला एवं हल्का होता है।

प्रश्न . प्रजनन किसे कहते हैं ?

उत्तर. जंतु द्वारा अपने सदृश संतान उत्पन्न करने को प्रजनन कहते हैं।

प्रश्न . जंतु में प्रजनन कैसे होता है ?

उत्तर.कुछ जंतु अंडे देते हैं जिनसे शिशु निकलते हैं। कुछ जंतु शिशु को जन्म देते हैं।

प्रश्न . पौधे में प्रजनन कैसे होता है ?

उत्तर. पौधों में प्रजनन के भिन्न-भिन्न तरीके हैं। बहुत-से पौधे बीजों द्वारा प्रजनन करते हैं।

प्रश्न . जैव घटक किसे कहते हैं ?

उत्तर.जैव घटक-किसी आवास में पाए जाने वाले सभी जैव जैसे कि पौधे एवं जंतु उसके जैव घटक कहलाते हैं।

प्रश्न . अजैव घटक किसे कहते हैं ?

उत्तर.अजैव घटक-चट्टान, मिट्टी, वायु एवं जल और तापमान, प्रकाश किसी परिवेश के अजैव घटक कहलाते हैं।

प्रश्न . बीजों के अंकुरण के लिए किन अजैव कारकों की आवश्यकता होती

उत्तर.बीजों के अंकुरण के लिए मिट्टी, वायु एवं जल की आवश्यकता होती है।

प्रश्न . कोई पाँच सजीव वस्तुओं के नाम लिखिए।

उत्तर.कुत्ता, बिल्ली, गिलहरी, कीट और पौधा।

प्रश्न . कोई पाँच निर्जीव वस्तुओं के नाम लिखिए।

उत्तर.मेज, कुर्सी, किताब, पत्थर और ब्लैकबोर्ड।

प्रश्न . कोई दो लक्षण बताएं जो सजीवों और निर्जीव दोनों में होते हैं।

उत्तर.सजीव तथा निर्जीव दोनों का द्रव्यमान होता है, आकार होता है और स्थान घेरते हैं।

प्रश्न . सजीवों को भोजन की क्यों आवश्यकता होती है ?

उत्तर.सजीवों को उनकी वृद्धि के लिए भोजन आवश्यक ऊर्जा प्रदान करता है।

प्रश्न . श्वसन सभी सजीवों के लिए क्यों आवश्यक है ?

उत्तर.क्योंकि ग्रहण किए गए भोजन से श्वसन के द्वारा ही हमारे शरीर को ऊर्जा मिलती है।

प्रश्न . केंचुआ कैसे साँस लेता है ?

उत्तर.केंचुआ नम त्वचा दुवारा साँस लेता है।

प्रश्न . मछली साँस लेने के लिए ऑक्सीजन कहाँ से लेती है ?

उत्तर.मछली जल में विलेय वायु से ऑक्सीजन अवशोषित करती है।

प्रश्न . पौधे कैसे साँस लेते हैं ?

उत्तर.पौधे की पत्तियाँ सूक्ष्म रंध्रों द्वारा वायु को अंदर लेती हैं तथा ऑक्सीजन का पयोग करती हैं और कार्बन डाइऑक्साइड वायु में निष्कासित कर देती हैं।

प्रश्न . उद्दीपन किसे कहते हैं ?

उत्तर.वातावरण में होने वाले परिवर्तनों को उद्दीपन कहते हैं।

प्रश्न . उत्सर्जन किसे कहते हैं ?

उत्तर.सजीवों द्वारा अवशिष्ट पदार्थों के निष्कासन के प्रक्रम को उत्सर्जन कहते हैं।

प्रश्न . क्या पौधों में उत्सर्जन होता है ?

उत्तर- –हाँ, पौधों में उत्सर्जन होता है

इस पोस्ट में सजीवों के सामान्य लक्षण बताएं। निर्जीवों के लक्षण सजीव वस्तुएं किसे कहते है सजीव वस्तु किसे कहते है सजीव वस्तु की परिभाषा सजीव की परिभाषा क्या है सजीव और निर्जीव में अंतर बताएं निर्जीव वस्तुओं के नाम सजीव और निर्जीव में क्या अंतर है सजीव के प्रमुख लक्षण क्या होते हैं ,सजीव का लक्षण एवं परिभाषा सजीवों में कौन से लक्षण पाए जाते हैं से संबंधित काफी महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है यह जानकारी फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और इसके बारे में आप कुछ जानना यह पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके अवश्य पूछे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!